Programming Language में Identifiers क्या होते है ?

 (identifiers) आइडेंटिफायर – इसका अर्थ Variable, array ,Function के नाम से होता है identifiers – को हम बहुद ही सरल सब्दो में समझने का प्रयास करते है जब हम किसी भी programming language में कोई भी program develop करते है तो हमे Programming की Coding के माद्यम से Computer memory में Data या निर्देश को input करने की आवश्य्कता होती है जो Computer memory की Location में Store होता है और Computer की Memory में हर Location का एक Unique address होता है और जब हम Programming language के माद्यम से Coding करते है तो वह data Computer की Memory में कही न कही जाकर Store हो जाता है Computer memory में यह data कहाँ जाकर store होता है यह हमारे लिए पता लगना मुश्किल होता है यह काम Operating system के द्वारा अपने आप कीया जाता है परन्तु identifies के माद्यम से हम उस memory location को एक कोई भी Name assign कर सकते है  परन्तु इन मेमोरी location का Name assign करने के लिए हमे कुछ नियमो को ध्यान में रखना पड़ता है क्यों की Programming language Compiler इसके साथ कही प्रकार के operation perform करता है वो नियम कुछ इस प्रकार है जो लग-भग सभी Programming Language पर लागु होते है

  1. किसी भी identifier के नाम में Lowe cash और Upper cash Character को use किया जा सकता है
  2. किसी भी प्रकार के Identifier के Name में under Score का use किया जा सकता है !
  3. identifier में हम किसी भी Number को यूज़ नहीं कर सकते है इसके लिए कम से कम एक Character का use तो करना आवश्य्क ही होता है
  4. इसके साथ ही हम identifier में किसी भी स्पेशल सिंबल कोमा ब्लेंक स्पेस अदि का यूज़ नहीं कर सकते है
  5. किसी भी Identifier की Name की Starting number से नहीं हो सकती है और इसमें किसी भी बिल्ट-इन function का name यूज़ नहीं किया जा सकता है
  6. ज्यादा तर Programming Language में a और A दोनों ही word अलग अलग माने जाते है क्यों की Programming Language Cash सेंसेटिव होती है

यहाँ निचे दिए गए कुछ Identifiers सही है जो ऊपर दिए गए नियमो को ध्यान में रख कर बनाये गए है

Valid  identifiers:      total    sum     average          _x        y_        mark_1           x1

Invalid identifiers    
1x       –           begins with a digit
char    –           reserved word
x+y      –           special character

दोस्तों अगर आप को हिंदी आईटी सलूशन द्वरा दिगई Trips ज्ञान प्रद और Knowledge वाली लगी हो तो Share करे like करे और हिंदी आईटी डॉट कॉम को Follow करे Follow करने के बाद हिंदी आईटी सलूशन डॉट कॉम जब भी कोई knowledge वाली post या Tutorial publish करेगा आप को Notification अपने email पर मिल जाएगी इस website पर आप Linux से Related बहुद सी post है जो सरल हिंदी भाषा में है जिस से आप Linux में निपुर्ण हो सकते है अगर आप को हिंदी आईटी सलूशन द्वारा पब्लिश किये गए किसी भी Trick या Tutorial का Piratical process में कोई Problem आती है तो Comments करे हिंदी आईटी सलूशन द्वारा आपकी समस्या का समाधान किया जाये गा

धन्यवाद
लेखक -विष्णु शर्मा

 

 

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s