Windows Operating System में कैसे Virtual Environment बनाये बिना किसी Third Party Software के

दोस्तों आज के इस लेख में हम सीखते है की Windows Operating System में हम बिना किसी Third party Software के कैसे Virtual Environment बना सकते है परन्तु इससे पहले हम यह जानते है की Virtual Environment होता क्या है! दोस्तों Virtual Environment में अपने Computer machine को एक ऐसा Environment बनाना होता है जिसमे हम कोई भी कार्य (work )करे परन्तु उसका कोई प्रभाव हमारे Real Operating system पर नहीं पड़े अन्य सब्दो में हम यह कह सकते है की वह  एक आभासी वातावरण (Virtual environment ) रहेगा जिसमे हम कोई भी दूसरा Operating system use कर अपने अनुसार Hard ware Processing Power दे सकते है यानि Windows Operating system में ही एक दूसरा Operating system install करना है  इस काम के लिए अनेक third party software internet पर available है जो कुछ Free है और कुछ paid है जैसे Virtual box ,VMware Work ststionपरन्तु दोस्तों Windows operating system भी by default virtual environment provide करवाता है जिसको Hyper -V Manager के नाम से जाना जाता है यह Windows Machine में by Default Disable रहता है हमे इस Features को on करके use कर सकते है इसके लिए आप को Hindiitsolution द्वारा बताए गए कुछ Simple step को Follow करना है

1 सबसे पहले आप को Hyper -v को enable करना है निम्न Path पर जाकर Control panel >Programs >turn Windows feathers on off  इस पर Click करने पर एक Window open होती है जिसमे से Hyper -v पर Click कर OK करना है इस को OK करने  के बाद यहSystem कुछ Time लेता है On होने में फिर  Computer को restart करना है 

Hyper-V

2. Computer के Restart होने के बाद आप को windows search में Search करना है Hyper-Computer के Restart होने के बाद आप को windows search में Search करना है Hyper-V manager

hyper -v

इसको Click करने पर एक window open होती जिसमे हम कोई भी Operating system install कर सकते है अगर आप को Virtual box या कोई भी third party virtual environment software use किया है तो इसको भी आसानी से कर सकते है या आप पहली बार कोई Virtual environment use कर रहे है तो Hindiitsolution के steps को Follow करे

hyper -v

3. यहाँ तक process Complet होने के बाद हमें Operating system को Install करने के लिए जिस Operating system को हम Install करना कहते है उसकी iso File इस CD /DVD होनी आवश्य्क के हम अपने Source के अनुसार Option Select करना है और Next Select करना है

hyper -v

इस तरह virtual machine की Setting Configure करने के बाद Operating system install कर सकते है और Virtual environment operating system use कर सकते है जिसका कोई भी प्रभाव Real operating system पर नहीं पड़ता है अगर आप को इस Hyper -V के process में कोई समस्या आती है तो आप Comments करके निचे बता सकते है

दोस्तों अगर आप को हिंदी आईटी सलूशन द्वरा दिगई Trips ज्ञान प्रद और Knowledge वाली लगी हो तो Share करे like करे और हिंदी आईटी डॉट कॉम को Follow करे Follow करने के बाद हिंदी आईटी सलूशन डॉट कॉम जब भी कोई knowledge वाली post या Tutorial publish करेगा आप को Notification अपने email पर मिल जाएगी इस website पर आप Linux से Related बहुद सी post है जो सरल हिंदी भाषा में है जिस से आप Linux में निपुर्ण हो सकते है अगर आप को हिंदी आईटी सलूशन द्वारा पब्लिश किये गए किसी भी Trick या Tutorial का Piratical process में कोई Problem आती है तो Comments करे हिंदी आईटी सलूशन द्वारा आपकी समस्या का समाधान किया जाये गा

धन्यवाद
लेखक -विष्णु शर्मा

 

Windows Operating System में Virtual Hard Disk कैसे Create की जाती है और इसके क्या फायदे होते है

दोस्तों आज के इस लेख में हम यह सीखते है की Windows Operating System में Virtual Hard disk कैसे Create की जाती है पर इससे पहले हम यह जानते है की Virtual Hard Disk होती क्या  है और इसको Create करने का क्या (Benefit )फायदा होता है दोस्तों Virtual Hard disk Real heard disk से Space लेकर बनती है Hard drive के जिस partition से Space लिया जाता है वहाँ एक File बन जाती है और वो File Hard drive की तरह Work करती है और उस को हम एक Computer से दूसरे Computer में Transfer भी कर सकते है Virtual hard Disk में Data को Store भी कर सकते है और इसमें Partition भी बना सकते है Virtual hard Drive का सबसे बड़ा फायदा यह है की इसमें रखा Data बेहद Safe होता है  और इसमें Data को Store कर Password लगाया जा सकता है और इसके बाद यह Computer को Restart या Shutdown करने पर अपने आप गायब (hide )हो जाती है और फिर user को जब आवश्य्कता पड़े इसको Show कर सकता है Virtual hard disk को Create करने के लिए किसी भी प्रकार के third party Software की आवश्य्कता नहीं पड़ती है इसके लिए Windows operating system में in built  Tools होते है जिसकी सहायता से यह किया जा सकता है आप Hinsiitsolution.com के द्वारा दिखाए गए Screen Short और कुछ सरल Points को देख कर आप बहुध आसानी से यह कर सकते है

  1. सबसे पहले आप को My Computer के Icon पर Right click कर manage Option को Select करना है और जो Window Open होती है उसमे से आप को Disk management Option को Select करना है

virtual heard diskvirtual heard disk

2. यहाँ हमे disk management में देखने को मिलता है real heard drive और उसके partition  की information इन्ही Partition मेंसे किसी एक Partition में एक file बनानी होती है जो Computer के लिए heard drive की तरह Work करती है  यहाँ हमे Action पर Click  करCreate VHD को Select करना है

virtual heard disk

3. यहाँ हमे जिस Partition से virtual heard disk के लिए Space लेना है वो location select करना है और जिस Size की आप Heard drive created करना चाहते है वहsize देनी है  यहाँ हमारी Virtual heard disk की एक File बने गी जो system के लिए Heard drive की तरह work करेगी

virtual heard disk

4. यहाँ Location और साइज देने के बाद OK पर क्लिक करते है तो Virtual disk के लिए File बनना Start हो जाती है

virtual heard disk

5. जब virtual Disk Create हो जाये तो हमे Manage विंडोज को Close कर देना है और फिर एक बार वापस Computer के right Click करते हुए  manage windows को Open करना है Manage Window Open होते ही एक पॉपप (window) Automatic Open हो जाता है वहाँ हमे Gpt या MBR  कोई भी File System Select करना है वैसे MBR File Syatem ज्यादा बहतर रहता है तो यहाँ वही Select किया हुवा है

virtual heard disk

इसके बाद Disk 1 में हमे right Click कर New Volume group को बनाना है यह एक तरह से Virtual Hard drive का Partition होगा

virtual heard disk

virtual heard disk

इसके बाद आप my Computer में जाकर देख सकते है की एक new Partition create हो चूका है इस Partition में हम Data को Store कर के रख सकते है परन्तु यहाँ एक ध्यान देने योग्य बात है की जब हमारा Computer restart या shutdown होगा तब यह partition Hide हो जायेगा इसको हमे वापस Show करने के लिए हमे Mount /attach करना होगा जो की एक सरल Process  है

जिसको Screen Short के जरिये भी दिखाया गया है  इसके लिए हमे Manage विंडोज को Open करना है वहां से Manage Windows option को Select करना है फिर इसके बाद Action पर click कर Attach VHD को Select करना है यहाँ से हमे उस partition में से  वो फाइल सेलेक्ट करनी है जिसको हम ने Virtual Heard drive बनाने के लिए use किया था उसको Select कर ने केबाद Hide Partition Show हो जायेगा

virtual heard drive

तो दोस्तों इस तरह से आप Computer में एक Virtual hard drive create कर सकते है और इसमें अपना कोई भी important या खुफिया data store कर सकते है Computer के Restart या Shut down होने पर यह Hard drive अपने आप Unmount/ Hide हो जायेगा और  और दोस्तों इसमें मजे की बात यह है की हम इसको copy कर दूसरे computer पर भी use कर सकते है और यदि हमे इसको ज्यादा secure बनाना होतो हम इस पर Bit locker का use कर Password भी लगा सकते है

 

दोस्तों अगर आप को हिंदी आईटी सलूशन द्वरा दिगई Trips ज्ञान प्रद और Knowledge वाली लगी हो तो Share करे like करे और हिंदी आईटी डॉट कॉम को Follow करे Follow करने के बाद हिंदी आईटी सलूशन डॉट कॉम जब भी कोई knowledge वाली post या Tutorial publish करेगा आप को Notification अपने email पर मिल जाएगी इस website पर आप Linux से Related बहुद सी post है जो सरल हिंदी भाषा में है जिस से आप Linux में निपुर्ण हो सकते है अगर आप को हिंदी आईटी सलूशन द्वारा पब्लिश किये गए किसी भी Trick या Tutorial का Piratical process में कोई Problem आती है तो Comments करे हिंदी आईटी सलूशन द्वारा आपकी समस्या का समाधान किया जाये गा

धन्यवाद
लेखक -विष्णु शर्मा

Windows Operating system में Telnet Client Service कैसे on करे

दोस्तों इस लेख में हम यहाँ जानेगें की Windows operating System में telnet client Serves कैसे on किया जाता है ! इससे पहले हम यह जानते है की हमे telnet client  Serves को on करने की आवश्यकता क्यों होती है ! दोस्तों  अगर Clint Server के Concept  में हमे  Windows machine पर कोई remotely serves को access करना है जैसे Telnet ,ftp Server या फिर कोई other Serves तो हमे इसकी आवश्यकता पड़ती है
Step 1 सबसे पहले आप को Control panel को open करना है और Program option पर click करना है

telnet Serves

Step 2 इसके बाद आप को Turn windows features  on off Option Select  करना है

इस option पर Click करने के बाद एक Windows open होती है यह हमे telnet client को Select करना है और OK पर Click करना है

telnet client

Ok पर Click करने केबाद यह न होने में थोड़ा time लेता है कुछ समय पश्च्यात आप का telnet client Features   on है

दोस्तों अगर आप को हिंदी आईटी सलूशन द्वरा दिगई Trips ज्ञान प्रद और Knowledge वाली लगी हो तो Share करे like करे और हिंदी आईटी डॉट कॉम को Follow करे Follow करने के बाद  हिंदी आईटी सलूशन डॉट कॉम जब भी कोई knowledge वाली post या Tutorial publish करेगा आप को Notification अपने email पर मिल जाएगी इस website पर आप Linux से Related बहुद सी post है जो सरल हिंदी भाषा में है जिस से आप Linux में निपुर्ण हो सकते है अगर आप को हिंदी आईटी सलूशन द्वारा पब्लिश किये गए किसी भी Trick या Tutorial का Piratical process में कोई Problem आती है तो Comments करे हिंदी आईटी सलूशन द्वारा आपकी समस्या का समाधान किया जाये गया

धन्यवाद
लेखक -विष्णु शर्मा

Windows machine को कैसे HTTP Server बनाये

दोस्तों आज हम सीखते है की Windows machine के Data को Linux Server या कोई भी दूसरी मशीन में कैसे लाया जाता है  यह एक बहुद ही सरल प्रक्रिया है ! अगर आप Linux machine virtual box में use कर रहे  हो या Real machine में ये trick दोनों ही condition में  Work करती है इसके लिए सबसे पहले आप को अपने Windows machine को HTTP Server बनाना होता है और उसके द्वारा windows से linux में Data Access कर सकते है  Windows को HTTP Server बनाने के लिए एक 3rd party Software Everything  की आवश्यकता होती हैअगरआप के पास ये Everything Software नही हो तो आप इस लिंक को Click कर कर यहाँ से downloads कर सकते है यह कोई २-3mb को Software होता है  जिस से हम easily Windows machine को HTTP Server  बना सकते है   और Windows machine के data को Other machine पर revive कर सकते है  everithingHTTP Server install करने के बाद हमे निम्न पाथ को Follow करना होता है Tools >option http Server =eneble  इसको आप Snap short से समाज सकते है की इसको किस प्रकार on करना होता है

http server in windows machine

इसको Enable करने के बाद आप को Windows machine के Command prompt को Open करना है और Windows machine का IP Address निम्न  ipconfig Commands से  देखना है how to look ip addressइस IP Address को हम किसी भी browser में input करते है तो Windows machine की Directory वह Show हो जाती है वहा से हम कोई भी data access कर सकते है HTTP Server

इस IP address को हम apne android mobile के Browser में input कर without cable के Computer से data भी Access कर सकते है

अगर हमे Windows से Linux में data को access krna हो तो हम निम्न प्रकार से कर सकते है

  1. Linux Server का कोई भी terminal open करे और टाइप करेelink 192.168.43.6

elink

इसके बाद data को Save करने के लिए Screen short में दिखाए गए instruction के अनुसार डाटा को Seve कर सकते है

data transfer

(नोट – windows से Linux में data को transfer करना Linux का एक बहुद ही महत्वपूण Part है क्यों की Linux server में  YUM Server के Configuration में इसकी आवश्यकता पड़ती है yum server क्या है और इसको के से configure किया  जाता है ये जानने के लिए इस लिंक पर click करे )

अगर आप को इस पूरे process में कोई problem आती है तो Comments करे में आप की problems को solve करुगा और अगर आप को मेरे द्वारा लिखा गया Tutorial /लेख अच्छा लगा होतो Like  करे Share करे और Follow  हिंदी आईटी.सलूशन  जब भी कोई article या publish करेगी आप को E-Mail प्राप्त हो जाये गा

by Vishnu Sharma

USB Port को कैसे Block करे ?

हेल्लो दोस्तों आज हम सिखते है की हमारे Computer system की USB port को कैसे Block किया जा सकता है ! हम अनेक जगह ऐसा देखते है की कही Computer system की कोई भी पोर्ट काम नही करती है जेसे bank या college में कोई Computer lab में किसी एक System की port को block कर के रखा जाता है ताकि वहा से कोई Data नही चुरा सके या और कोई additional program install नही कर सके इसको  Security के लिए block करके रखा जाता है ! हम भी अपने घर या ऑफिस में computer की USB port को block कर सकते है ! तकि अपना system secure रक सके यह एक बहुद ही सिंपल Process होता है जिसको आप follow कर अपने system का USB port block कर सकते हैusb block

Step 1= सबसे पहले आप को अपने Computer से  Windows + R की press करके Run windows open करनी है ! और उसमे  Type करना है regedit

Step 2=इससे आप की windows system की registry open होती है  यहाँ से आप को computer के Icons को Select करते हुए HKY _LOCAL _MACHINE Options को सेलेक्ट करना है 

usb port block

Step 3=इसके बाद आप को select करना है System > CurrentControlSet >Servies >USBSTORE 

Step4 =USBSTORE से Right window में आप को Start option को select करना है और यह By-default 3 number हो ते है यह आप को 4 कर देना है और OK press कर windows को exit कर देना है  

usb pot block

अगर आप को इस पुरे process में कोई problem आती है तो Comments करे में solve करू गा अगर आप को मेरे द्वारा दीगई जानकारी उपयोगी लगे तो comments करे  like करे share करे meri website को आप follow करे

अधिक सहायता के लिए आप ये Video भी देख सकते है


ध्न्यवाद

writer Vishnu Sharma

Website को कैसे Block करे अपने System के लिए ?

हेल्लो दोस्तों आज हम ये सिखते है की किसी भी Website  को केसे Block  किया जासकता है अपने Computer के लिए बहुद सी बार ऐसा होता है हमारे साथ की हम कोई आपत्ति जनक Website या और कोई website  अपने Computer system के लिए block करना चाहते है तो उसके लिए हम उस browser में जाकर ब्लाक कर सकते है परन्तु कोई दूसरा Browser यूज़ करने पर वो website फिर से Access होने लगती है आज में आप को एक ऐसी Trick बताहूगा जिससे हम किसी भी Website को अपने सिस्टम से permanently block कर सकते है! तो सबसे पहले आप को मेंरे द्वारा दिए गए  पाथ को follow करना है! computer>C:drive>Windows>System32>Drive>etc>hosts यहाँ हम देखते है जब हम hosts इस File को Open करते है तो इस तरह code show होता है इस File को हमे notepad में ओपन करना होता है

 

# Copyright (c) 1993-2009 Microsoft Corp.
#
# This is a sample HOSTS file used by Microsoft TCP/IP for Windows.
#
# This file contains the mappings of IP addresses to host names. Each
# entry should be kept on an individual line. The IP address should
# be placed in the first column followed by the corresponding host 
# The IP address and the host name should be separated by at least one
# space.
#
# Additionally, comments (such as these) may be inserted on individual
# lines or following the machine name denoted by a '#' symbol.
#
# For example:
#
#      102.54.94.97     rhino.acme.com          # source server
#       38.25.63.10     x.acme.com              # x client host
       
 
# localhost name resolution is handled within DNS itself.
#	127.0.0.1       localhost
#	::1             localhost
       
# unchecky_begin
# These rules were added by the Unchecky program in order to block 
0.0.0.0 0.0.0.0 # fix for traceroute and netstat display anomaly
0.0.0.0 tracking.opencandy.com.s3.amazonaws.com
0.0.0.0 media.opencandy.com
0.0.0.0 cdn.opencandy.com
0.0.0.0 tracking.opencandy.com
0.0.0.0 api.opencandy.com
0.0.0.0 api.recommendedsw.com
0.0.0.0 installer.betterinstaller.com
0.0.0.0 installer.filebulldog.com
0.0.0.0 d3oxtn1x3b8d7i.cloudfront.net
0.0.0.0 inno.bisrv.com
0.0.0.0 nsis.bisrv.com
0.0.0.0 cdn.file2desktop.com
0.0.0.0 cdn.goateastcach.us
0.0.0.0 cdn.guttastatdk.us
0.0.0.0 cdn.inskinmedia.com
0.0.0.0 cdn.insta.oibundles2.com
0.0.0.0 cdn.insta.playbryte.com
0.0.0.0 cdn.llogetfastcach.us
0.0.0.0 cdn.montiera.com
0.0.0.0 cdn.msdwnld.com
0.0.0.0 cdn.mypcbackup.com
0.0.0.0 cdn.ppdownload.com
0.0.0.0 cdn.riceateastcach.us
0.0.0.0 cdn.shyapotato.us
0.0.0.0 cdn.solimba.com
0.0.0.0 cdn.tuto4pc.com
0.0.0.0 cdn.appround.biz

जिस website को हमे ब्लाक करना चाहते उस वेबसाइट का नाम LoopBack ip address के साथ write कर देते है three times इस तरह  For-example मुझे Facebook को अपने सिस्टम पर ब्लाक करना है तो इस तरह File में write करुगा

1 127.0.0.1      facebook.com

2-  127.0.0.1     http://www.facebook.com

3-  127.0.0.1    https://facebook.com

websit block

इस तरह हम File में website का नाम लिख देते है और save कर ते है तो हमे इस file को system  सेव नही करने देता है तो हमे इसको Save करने के लिए इसको write की permission General account के लिए on करनी होती है तो इसके लिए आप Screen short में दिखाए गए Process को follow करते है

permission provide करवाने का Path है  Right click on hosts file >go to properties>Security>chose your active account> click on Write permission >ok 

website block

दोस्तों इस File को save करने के बाद आप उस website को अपने system पर कभी Open नही कर सकते है  और अगर आपको फिर से unblock करना है तो इस File में जाकर जो code आप ने लिखा है उसको remove करदे!

दोस्तों आपको अगर इस process में कोई problem आती है तो आप Comments करे में आपकी problems solve करू गा अगर आपको मेरी ये post अछि लगी होतो Like करे comments करे share करे हिंदी आईटी .सलूशन पर आपको निरन्तर अचूक Tips और knowledge मिलता रहे गा

अधिक सहायता के लिए आप ये Video भी देख सकते है


धन्याद
writer- Vishnu Sharma

 

WINDOWS को कैसे FORMATऔर INSTALL करे ?

आज हम यह सीखेंगे की विंडोज को फॉर्मेट कैसे मारा जाता है और नया ऑपरेटिंग सिस्टम कैसे इनस्टॉल किया जाता है यह एक बहुत ही simple process होता है पर जानकारी के अभाव में हमें कंप्यूटर शॉप पर जाना पड़ता है और वह छोटे से काम के लिए ही हमे ज्यादा पैसे देने पड़ते है विंडोज को फॉर्मेट मारने के लिए हमें एक पेन ड्राइव(pen drive) या Windows CD की आवश्यकता होती है  पेन ड्राइव को बूटेबल बनाकर हम अपने विंडोज को फॉर्मेट मार सकते हैं पेन ड्राइव को बूटेबल कैसे बनाया जाता है यहाँ आप मेरे लिंक पर क्लिक करके देख सकते है यहाँ पर में ये मान के चल रहा हु की आपके पास बूटेबल पैन ड्राइव या विंडोज सीड है इसके बाद आप को कुछ सिंपल स्टेप ही फॉलो करनी है

सबसे पहले आप उस बूटेबल पैन ड्राइव या CD को अपने सिस्टम में लगा लिजीये और सिस्टम को रिबूट (Restart ) कीजिये अब आप को अपने सिस्टम के BIOS में जाने की आवश्यकता है हर सिस्टम की अलग -अलग BIOS KEY होती है अगर आप को BIOS KEY के बारे में पता नही है तो आप इस चार्ट को देख कर सर्च कर सकते है यदि आप का COMPUTER ब्रांड इस चार्ट में नही है तो उसकी BRANDसम्न्बन्दित साइट पे जाकर भी सर्च कर सकते है पर ज्यादातर सिस्टम में यही Bios key होती है

HP F10 or ESC /F1,F2,F6,or F11 in tablet F10 or F12

अगर BIOS key नही मिले तो यहाँ क्लिक करके HP की बायोस BOOK में देखे

Lenovo F1 or F2 some heard ware in

CTRL+ALT+F3 or CTRL+ALT+INS or Fn+F1.

यहाँ LEVOVA की साइट पे जाकर  देखे

Acre F2 and Delete.,older computers, try F1 or CTRL+ALT+ESC.
Asus F2 or F10.
Dell try F1, Delete, F12, or even F3./Older models might use CTRL+ALT+ENTER or Delete or Fn+ESC or Fn+F1. यहाँ DELLकी साइट पे जाकर दे देखे 
Sony , F2 or F3or F1 or यहाँ soney की साइट पे जाकर  देखे 
Toshiba F2 key. or F1 and ESC. /F12 should be try

यहाँ TOSHIBA की साइट पे जाकर  देखे

BIOS ओपन होने के बाद आप को अपने डिवाइस  को सेलेक्ट करना  है यदि आप के पास CD है वो option सेलेक्ट करना है  पैन ड्राइव है तो उसका नाम लिखा आये गा यहाँ एक ध्यान देने योग्य बात ये है की अगर आप का सिस्टम CD या PEN Driver को डेडक्टट नही कर रहे तो आप को दूसरी BIOS सेटिंग से कोई छेड़छाड़  नही करनी है अन्यता इस से आप के सिस्टम को बहुद नुकसान हो सकता है इसके लिए आप 4-5 बार सिस्टम को रिबूट(Restart) कर के देख सकते है

अगर आप की CD या pen drive रीड होजाता है तो Press any key एक लाइन आती है वह से कोई भी key press कर के आप को आगे बड सकते है इस पुरे प्रोसेस में विण्डोज़ टाइम लेता है आप जल्द बाजी में कोई key press नही करे

यहाँ आप को अपनी Language चुनते हुए आगे बढ़ना है only next को Select करना है

windows installationयहाँ से आप के system में इनस्टॉल होने वाले कोई भी OS सेलेक्ट कर सकते है जैसे  8 .1/Pro /Enterprise  अगर आप मेरी राय माने तो इसमे से /Pro सबसे Best है

windows installationयहाँ से आप को लाइसेन्स अग्ग्रेमेन्ट को Select करते हुए Next Select करना है

windows installation

यहाँ हमे Custom install windows Option Select करना है

windows installationयहाँ एक ध्यान देने योग्य बात है की हम यहाँ अपने सिस्टम में new partition बना सकते है Old partition को Delete कर सकते है और Format कर सकते है Partition को अगर हमारे System में पहले से Windows Install है और हम Only  Old Windows को ही Format करना है तो हमे यहाँ System Partition को ही Select करना है होगा और उसको Select करने के बाद Format पर Click करना होगा जिस से हमारा Old Windows Format होजाये गा तो हमे System Partition  को Select कर के Format  करना है और फिर उसी पर One Click कर के Next पर Click करना है

(Note – जब हम System Partition को Select करते है तो हमारे Desktop Download Folder व् C Dreive  में रखे सारे Data Delete  होजाते है अगर आप Desktop पे रखे DATA को बचाना है तो उसको किसी और Driver में Move  कर दे)

Windows installation

तो इस तरह हमारा New Windows  Install हो जायेगा

Windows installation

यहाँ Windows install होने में थोड़ा  टाइम लगता है इसको इनस्टॉल होने दे बीच में कोई भी key Press नही करे जब विंडोज success fully Install हो जाये गा तब  कंप्यूटर ऑटोमैटिकल restart होगा उस टाइम आप अपनी Installation CD या pen driver निकल ले आगे के प्रोसेस में आप को अपना Account create  करना होता है उसको क्रिएट करने के बाद आप का new windows तैयार है

अगर इस पूरे Process आप को कोई भी problem आती है तो Comments करे में आप की Problem को Solve करू गा अगर आप को मेरे द्वारा लिखा गया ये लेख यूज फुल लगा हो तो दोस्तों like  करे फॉलो  करे में जब भी कोई आर्टिकल publish करुगा आप को mail मिल जाये गा |
धन्यवाद

By Vishnu Sharma