RedHat Linux server में कैसे File को Compress व decompress करे

हेल्लो दोस्तों आज हम सीखते है की Redhat Linux  Server में किसी File ,Folder को किन किन Method द्वारा Compress कर उनकी Size को कम किया जा सकता है ! Linux में  Powerful compression method है जिस के द्वारा हम  File के मूल आकर से कही गुना छोटा कर सकते है !यह Compression सभी  प्रकार के Data पर लागु होता है audio ,video , text किसी भी प्रकार का Data हो उसका Extinction Change करना होता है    Linux Server में File को compress करने की कही Method है उनमे से कुछ के बारे में हम जानेगे और Particle करेंगे

compression

1. tar -cvf compression 

1. यहाँ में कुछ blank फाइल create कर रहा हु जिनको TAR  -CVF से एक Compress File में collect किया जाये गा

—यहाँ हम ने 26 फाइल बनाई है touch commands के through

 

[root@localhost exp]# touch {a..z}.txt
[root@localhost exp]# ls
a.txt  c.txt  e.txt  g.txt  i.txt  k.txt  m.txt  o.txt  q.txt  
s.txt  u.txt  w.txt  y.txt b.txt  d.txt  f.txt  h.txt  j.txt  
l.txt  n.txt  p.txt  r.txt  t.txt  v.txt  x.txt  z.txt

2. यहाँ tar -cvf commands के through सभी .Txt एक्सटेशन फाइल को एक all .tar कंप्रेस File में Collect करते है  

[root@localhost exp]# tar -cvf all.tar *txt

यह all.tar जो new file  बना है ये File की size को कम तो नही करता है पर same file का collection कर लेता है और फिर इस folder को हम Compress कर के रख सकते है ये हमारे लिए इस लिए आवश्यक होता है की अगर हमारे पास 500kb की 10 लाख या उससे भी ज्यादा Files है तो हम उनको एक एक file को Compress करना काफी मुश्किल होगा और समय की बर्बादी होगी तो इससे बहतर है की हम उनको Collect करके compress कर दे                                                                                                            (note-इस all .tar फाइल पर Bzip2 और Gzip compression method यूज़ कर सकते है इसका विवरण निचे  topic 5 में दिया गया है जिसमे Gzip और Bzip2 compress किया गया है tar file के साथ )

3. अब हम सभी .txt फाइल को remove कर देते है 

[root@localhost exp]# rm -rf *txt
[root@localhost exp]# ls -l
total 24
-rw-r--r-- 1 root root 20480 Jan 29 15:21 all.tar
[root@localhost exp]#

3. और अब हमे यह देखना हो की all .txt में कोन-कोनसी फाइल है तो हम निम्न कमांड्स से देखेंगे

[root@localhost exp]# tar -tvf all.tar
-rw-r--r-- root/root         0 2017-01-29 14:48:25 a.txt
-rw-r--r-- root/root         0 2017-01-29 14:48:25 b.txt
-rw-r--r-- root/root         0 2017-01-29 14:48:25 c.txt
-rw-r--r-- root/root         0 2017-01-29 14:48:25 d.txt
-rw-r--r-- root/root         0 2017-01-29 14:48:25 e.txt
-rw-r--r-- root/root         0 2017-01-29 14:48:25 f.txt
-rw-r--r-- root/root         0 2017-01-29 14:48:25 g.txt
-rw-r--r-- root/root         0 2017-01-29 14:48:25 h.txt
-rw-r--r-- root/root         0 2017-01-29 14:48:25 i.txt
-rw-r--r-- root/root         0 2017-01-29 14:48:25 j.txt
-rw-r--r-- root/root         0 2017-01-29 14:48:25 k.txt
-rw-r--r-- root/root         0 2017-01-29 14:48:25 l.txt
-rw-r--r-- root/root         0 2017-01-29 14:48:25 m.txt
-rw-r--r-- root/root         0 2017-01-29 14:48:25 n.txt
-rw-r--r-- root/root         0 2017-01-29 14:48:25 o.txt
-rw-r--r-- root/root         0 2017-01-29 14:48:25 p.txt
-rw-r--r-- root/root         0 2017-01-29 14:48:25 q.txt
-rw-r--r-- root/root         0 2017-01-29 14:48:25 r.txt
-rw-r--r-- root/root         0 2017-01-29 14:48:25 s.txt
-rw-r--r-- root/root         0 2017-01-29 14:48:25 t.txt
-rw-r--r-- root/root         0 2017-01-29 14:48:25 u.txt
-rw-r--r-- root/root         0 2017-01-29 14:48:25 v.txt
-rw-r--r-- root/root         0 2017-01-29 14:48:25 w.txt
-rw-r--r-- root/root         0 2017-01-29 14:48:25 x.txt
-rw-r--r-- root/root         0 2017-01-29 14:48:25 y.txt
-rw-r--r-- root/root         0 2017-01-29 14:48:25 z.txt

3 . अब हम all.tar को Decompress कर सभी फाइल को वापस access कर सकते है निम्न Commands से  

[root@localhost exp]# tar -xvf all.tar
a.txt
b.txt
c.txt
d.txt
e.txt
f.txt
g.txt
h.txt
i.txt
j.txt
k.txt
l.txt
m.txt
n.txt
o.txt
p.txt
q.txt
r.txt
s.txt
t.txt
u.txt
v.txt
w.txt
x.txt
y.txt
z.txt
[root@localhost exp]# ls
all.tar  b.txt  d.txt  f.txt  h.txt  j.txt  l.txt  n.txt  p.txt 
 r.txt  t.txt  v.txt  x.txt  z.txt   a.txt    c.txt  e.txt  g.txt 
 i.txt  k.txt  m.txt  o.txt  q.txt  s.txt  u.txt  w.txt  y.txt

2. zip Compression

 1.  इस compression में यहाँ में dd commands के through 200M की garbage फाइल बना कर compress कर रहा हु आप चाये तो इसकी जगह कोई भी फाइल ले सकते है

[root@localhost exp]# dd if=/dev/sda of=ram.txt bs=2M count=100
100+0 records in
100+0 records out
209715200 bytes (210 MB) copied, 4.08322 seconds, 51.4 MB/s
[root@localhost exp]# dd if=/dev/sda of=shyam.txt bs=2M count=100
100+0 records in
100+0 records out
209715200 bytes (210 MB) copied, 0.438385 seconds, 478 MB/s
[root@localhost exp]# ls
ram.txt  shyam.txt

2. यहाँ ZIP Compression के द्वारा ram और shyam file से demo .zip file बनाई जा रही है

[root@localhost exp]# zip demo.zip *txt
  adding: ram.txt (deflated 93%)
  adding: shyam.txt (deflated 93%)
root@localhost exp]# ls -l
total 438572
-rw-r--r-- 1 root root  29200536 Jan 29 18:17 demo.zip
-rw-r--r-- 1 root root 209715200 Jan 29 18:10 ram.txt
-rw-r--r-- 1 root root 209715200 Jan 29 18:10 shyam.txt

3. अब ram और shyam file को remove करते है और हमारे पास बचती Demo .zip file को केसे decompress किया जाता है यह हम निम्न commands से देखते है

[root@localhost exp]# rm -rf *txt
[root@localhost exp]# ls -l
total 28556
-rw-r--r-- 1 root root 29200536 Jan 29 18:17 demo.zip
[root@localhost exp]# unzip demo.zip
Archive:  demo.zip
  inflating: ram.txt
  inflating: shyam.txt               
[root@localhost exp]# unzip demo.zip

3. GZIP/GUNGIP(.gn)Compression

1 .यह Compresss बहुद ही powerful compress होता है इसके द्वारा हम किसी बड़ी फाइल को कंप्रेस कर सकते है पर इस compress में एक खामी है की हम इसमे एक एक फाइल को ही compress कर सकते है यह Compress तोडा टाइम ज्यादा लेता है यहाँ में dd commands के through एक 400MB की File बना रहा हु उसको GZIP के through Compress करेंगे

[root@localhost exp]# dd if=/dev/sda of=demo2.txt bs=2M count=200
200+0 records in
200+0 records out
419430400 bytes (400 MB) copied, 14.2919 seconds, 29.3 MB/s

2.यहाँ हम GZIP compression की Power देख सकते है इस compression ने 400MB की File को only 23MB में convert कर दिया है

[root@localhost exp]# gzip demo2.txt
[root@localhost exp]# ls -lh
total 22M
-rw-r--r-- 1 root root 22M Jan 29 19:39 demo2.txt.gz

3. File का मूल रूप पाने के लिए इसको निम्न प्रकार से Uncompressed किया जाता है

root@localhost exp]# gunzip demo2.txt.gz
[root@localhost exp]# ls -lh
total 401M
-rw-r--r-- 1 root root 400M Jan 29 19:39 demo2.txt

4. BZIP2/BUNZIP2(.bz2) compression 

1. यह Compression gzip compression से भी ज्यादा powerful होता है और यह भी एक -एक फाइल को ही compress करता है यह फाइल Compress में तोडा time ज्यादा लेता है  हम यहाँ Demo .txt File को ही use करते है Compress में और देखते है की ये Gzip compress की तुलना मेंBzip2  400Mb की File कितनी Mb की फाइल में convert करता है

[root@localhost exp]# bzip2 demo2.txt
[root@localhost exp]# ls -lh
total 16M
-rw-r--r-- 1 root root 16M Jan 29 19:39 demo2.txt.bz2

तो यहाँ हम देखते है की ये bzip2 compression 400Mb की फाइल को 16 MB की फाइल में convert कर देता है

—-File का मूल रूप पाने के लिए इसको निम्न प्रकार से Uncompressed किया जाता है

[root@localhost exp]# bunzip2 demo2.txt.bz2
[root@localhost exp]# ls -lh
total 3.0G
-rw-r--r-- 1 root root 400M Jan 29 19:39 demo2.txt

5. TAR+GZIP(tar.gz /.tgz) compression

1 यहाँ हम tar File को  gzip के through compress करते है

[root@localhost exp]# touch {a..z}.txt
[root@localhost exp]# tar cvfz all.tgz *txt
a.txt
b.txt
c.txt
d.txt
e.txt
f.txt
g.txt
h.txt
i.txt
j.txt
k.txt
l.txt
m.txt
n.txt
o.txt
p.txt
q.txt
r.txt
s.txt
t.txt
u.txt
v.txt
w.txt
x.txt
y.txt
z.txt
[root@localhost exp]# rm -rf *txt
[root@localhost exp]# ls -ih
3201957 all.tgz

—-File का मूल रूप पाने के लिए इसको निम्न प्रकार से Uncompressed किया जाता है

[root@localhost exp]# tar xvfz all.tgz
a.txt
b.txt
c.txt
d.txt
e.txt
f.txt
g.txt
h.txt
i.txt
j.txt
k.txt
l.txt
m.txt
n.txt
o.txt
p.txt
q.txt
r.txt
s.txt
t.txt
u.txt
v.txt
w.txt
x.txt
y.txt
z.txt

6. TAR+BZIP2(tar.bz2/.bz2) Compression

1 यहाँ touch commands के through 100 file बनाई गए है ls -l के through show किया गया है में पूरी 100 files यहाँ show नही कर सकता तो कुछ files ही show की गई है

[root@localhost exp]# touch ram{1..100}.txt
[root@localhost exp]# ls
ram100.txt  ram19.txt  ram28.txt  ram37.txt  ram46.txt  ram55.txt 
ram10.txt   ram1.txt   ram29.txt  ram38.txt  ram47.txt  ram56.txt 
ram65.txt  ram74.txt  ram83.txt  ram92.txt   ram11.txt   ram20.txt  
ram2.txt   ram39.txt  ram48.txt  ram57.txt   ram12.txt   ram21.txt 
ram30.txt  ram3.txt   ram49.txt  ram58.txt ram72.txt     ram81.txt 
 ram90.txt  ram9.txt

2 अब इनको Bzip2 method के through powerful compression किया गया है

[root@localhost exp]# tar cvfj all.tbz2 *txt
[root@localhost exp]# tar cvfj all.tbz2 *txt
ram100.txt
ram10.txt
ram11.txt
ram12.txt
ram13.txt
ram14.txt
ram15.txt

आप को इस पुरे प्रोसेस में कोई प्रोब्लेम्स आती हे तो कमैंट्स करे में solve करुगा दोस्तों अगर आपको मेरे द्वरा दीगयी जानकारी अछि लगी तो फॉलो करे मेरे ब्लॉग  को में निरन्तर ऐसी नॉलेज वाली पोस्ट जब बी पिब्लिश करुगा आप को मेल मिलजाएगा और इस ब्लॉग पे बहुद ही सरल तरीके से Networking ,windows Linux ,Androud  से related  पोस्ट में प्रकाशित करता रहुगा

Thank you

Writer Vishnu sharma

REDHAT LINUX SERVER में केसे USER ACCOUNTऔरGROUP बनाये part 2 ?

हेल्लो दोस्तों  जैसा की आप ने मेरे पिछले आर्टिकल ( REDHAT LINUX SERVER  में केसे USER ACCOUNTऔरGROUP बनाये part 1 ?)में देखा की हमे Linux server में क्यों Userऔर Group की आवश्यकता पड़ती है ! और हम केसे UserऔरGroup बना सकते है और Delete कर सकते है Next इस Process को Continue करते हुए हम ये सीखेंगे की किस तरह से किसी User का expire date set किया जा सकता कैसे User को Lock किया जा सकता  है ! और भी बहुद कुछ

1=यहाँ  इस कमांड के through ये देखा जाता है की कितने User बिना password  के है

[root@localhost ~]# awk -F: '($2==""){print}' /etc/shadow

2=यहाँ हम देखते हे की एक साथ के से Blank password user को Block किया जा सकता है

[root@localhost ~]# passwd -l satish
Locking password for user satish.
passwd: Success
[root@localhost ~]#

3=यहाँ हम देखते है की किस Account को Root की permission मिली हुई है जिस Account को    Root /(administrative ) की  permission होती है उसकी UID set ‘0’ होता है  

[root@localhost ~]# awk -F: '($3=="0"){print}' /etc/passwd
root:x:0:0:root:/root:/bin/bash
[root@localhost ~]#

4=कोई भी User account से related information को केसे देखा जाता है

[root@localhost ~]# chage --list hindi
Last password change                                    : Jan 22, 2017
Password expires                                        : never
Password inactive                                       : never
Account expires                                         : never
Minimum number of days between password change          : 0
Maximum number of days between password change          : 99999
Number of days of warning before password expires       : 7

5= यहाँ में एक User Account को फरवरी 16 को Expire करना हे तो -M कमांड के Through इस तरह से करते है

[root@localhost ~]# chage -M25 hindi
[root@localhost ~]# chage --list hindi
Last password change                                    : Jan 22, 2017
Password expires                                        : Feb 16, 2017
Password inactive                                       : never
Account expires                                         : never
Minimum number of days between password change          : 0
Maximum number of days between password change          : 25
Number of days of warning before password expires       : 7

6=हम किसी Fix Expire date के सात भी user को create कर सकते है निम्न Commands के through

[root@localhost ~]# useradd -e 2017-02-16 ishita
[root@localhost ~]# chage -l ishita
Last password change                                    :Jan 24, 2017
Password expires                                        : never
Password inactive                                       : never
Account expires                                         :Feb 16, 2017
Minimum number of days between password change          : 0
Maximum number of days between password change          : 99999
Number of days of warning before password expires       : 7

7=यहाँ हम किसी Accounts में इस तरह  की permission भी सेट कर सकते  है की अगर वो user ३० तक अपना Account Login ना करे तो automatic lock  हो जाये 

[root@localhost ~]# chage -I30 hindi

अगर इस Account में 30 दिन तक login नही किया गया तो Automatic lock हो जाये गा

8=निम्न Commands के द्वारा हम किसी भी Accounts का status देख सकते है

[root@localhost ~]# passwd -S hindi
hindi LK 2017-01-21 0 25 7 30 (Password locked.)
You have new mail in /var/spool/mail/root

9=हम Linux operating system में जो भी Account बनाते है वो by-default Home directory में ही बनता है पर हम उसको customize करके कही भी किसी भी Directory में बना सकते है

user accountइसतरह से Home directory से अलग दूसरी directory में user बनाया जाता है

[root@localhost ~]# mkdir -p /demo1
[root@localhost ~]# mkdir -p /demo1/demo2
[root@localhost ~]# useradd -d /demo1/demo2/hindiit hindiit
[root@localhost ~]# passwd hindiit
Changing password for user hindiit.
New UNIX password:
BAD PASSWORD: it is based on a dictionary word
Retype new UNIX password:
passwd: all authentication tokens updated successfully.

10=हम अपनी Customize User ID से भी User account बना सकते है उदारणत: मुझे 520 ID का एक  User Account बनाना है तो में इस प्रकार से निम्न Commands use कर सकते है!

[root@localhost ~]# useradd -u 900 -g520 demo4

11=हम एक कोई Customize comments के साथ भी User को add कर सकते है

[root@localhost ~]# useradd -c"hello this is demo5" demo5
demo5:x:901:901:hello this is demo5:/home/demo5:/bin/bash

12=User account बनने के बाद उसकी information को भी change कर सकते है इसके लिए chfn commands का use किया जाता है

[root@localhost ~]# cat /etc/passwd|grep hindi
hindi:x:519:519::/home/hindi:/bin/bash
hindiit:x:527:527::/demo1/demo2/hindiit:/bin/bash
[root@localhost ~]# chfn hindi
Changing finger information for hindi.
Name []: english
Office []: vishnu sharma form bhilwara
Office Phone []: 72968765
Home Phone []: 265077
Finger information changed.
[root@localhost ~]# cat /etc/passwd|grep hindi
hindi:x:519:519:english,vishnu sharma form bhilwara,72968765,265077:
/home/hindi:/bin/bash
hindiit:x:527:527::/demo1/demo2/hindiit:/bin/bash

13=हम chsh mod से किसी भी User Account की Shell भी Change कर सकते है

[root@localhost ~]# cat /etc/passwd|grep hindiit
hindiit:x:527:527::/demo1/demo2/hindiit:/bin/bash
[root@localhost ~]# chsh hindiit
Changing shell for hindiit.
New shell [/bin/bash]: /bin/ksh
Shell changed.

14=Without home directory user कैसे Create किया जाता है ? यहां हमने एक Without home directory user create किया है Demo 6 नाम से जो Home Directory में नही है

[root@localhost ~]# useradd -M demo6
[root@localhost ~]# ls -l /home/demo6
ls: /home/demo6: No such file or directory

15=हम एक User को multi pal Group में भी Add कर सकते है निम्न Commands से

[root@localhost ~]# groupadd java
[root@localhost ~]# groupadd redhat
[root@localhost ~]# groupadd php
[root@localhost ~]# groupadd sql
[root@localhost ~]# useradd ishu
[root@localhost ~]# passwd ishu
Changing password for user ishu.
New UNIX password:
BAD PASSWORD: it is too short
Retype new UNIX password:
passwd: all authentication tokens updated successfully.
[root@localhost ~]# useradd -G java,redhat,php,sql ishu
useradd: user ishu exists 

16=Custom Shell के साथ भी User को create कर सकते है 

[root@localhost ~]# cat /etc/shells
/bin/sh
/bin/bash
/sbin/nologin
/bin/tcsh
/bin/csh
/bin/ksh
[root@localhost ~]# useradd -s /bin/csh deepit
[root@localhost ~]# tail -l /etc/passwd
deepit:x:905:909::/home/deepit:/bin/csh

दोस्तों ये tutorial Linux learner के लिए  बहुद ही महत्वपूण है हो सकता है की मेरे द्वारा Describe की गए सारे Commands आपको remember नही हो परन्तु इनमे से Account को Add करना remove करना Group में add करना ये कुछ महत्वपूण Commands तो याद रखना अनिवार्य है ही इनसब Commands की आपको Server hosting  Security आदि में आवश्यकता पड़ेगी इस Process को continue रखते हुए पार्ट-3 भी है
अगर आपको किसी Commands या process में Problem आती है तो आप comments box  में Commants कर सकते है में आप की problems solve करुगा Other -way आप मेरी Website को फॉलो करेbookmark kre निरन्तर new tutorial आईटी से रिलेटेड मिलते रहे गे अगर आप LINUX NETWORKING WINDOWS से Related महत्वपूण जानकारी चाहते तो मेरी एक और website www.visworlditsolution.com जो की English में है वहा से प्राप्त कर सकते है
धन्याद

writer-Vishnu Sharma

केसे किसी File को टुकड़ो में तोड़े Redhat Linux server में

हेल्लो दोस्तों आज हम सीखेंगे की Linux में हम कैसे किसी भी Data file को टुकड़ो में तोड़ सकते हे ! Linux में हम किसी भी File को अनेक टुकड़ो में तोड़ सकते हे चाये वो MP4 , mp3 HD video या  साधारण Text File ही कयो न हो सामान्यत इस तरह का काम जब किसी Deface agency या कोई खुफिया agency में भी किया जाता हे जब उनको अपने डाटा को कही Send करना होता है तो वो ऐसी files को अनेक टुकड़ो में तोड़ कर अलग अलग E -Mail ID का यूज़ कर Send करती है ! इससे  यह फायदा होता है की  अगर दुरभाग्य वस उनकी E – Mail ID या File transfer medium hake भी हो जाता है तो हैकर Data नही देख सकता है ! हम इस Method का use करना इसलिए सिख रहे है की माना की  जब हमे कोई डाटा किसी को Send करना है E -Mail के through और उसकी size  200MB  या उससे ज्यादा है तो वो E -Mail के through send नही किया जा सकता तो हम Files को  7-8 small parts में तोड़ देंगे और उसको एक एक करके Send कर देंगे

file split

तो सबसे पहले दोस्तों आप कोई भी File लेलीजिये यहाँ में एक 200Mb की File बना रहा हु dd commands से आप चाए तो ये भी Follow कर सकते है Experiment के तोर पर ताकि आप का Real data खराब  नही हो !

[root@localhost ~]# dd if=/dev/sda of=demo.txt bs=2M count=100
100+0 records in
100+0 records out
209715200 bytes (210 MB) copied, 2.96287 seconds, 70.8 MB/s

अब हमारे पास एक 200MB की Demo .txt नाम की File है जिसको हम( Split ) विभाजन करेंगे

root@localhost expirment]# split -b 25000000 demo.txt

(Note-यहाँ Split commands फाइल को bytes में तोड़ ता है तो हमारी फाइल की size 200Mb है हमे हर एक Parts को लगभग 23-24 MB का बनाना है SO इसकी size 25000000 दी है अगर हमारी फाइल छोटी है तो हमे इतनी Size देने की आवश्यकता नही है )

इन तोड़ी गई फाइल्स को हम ls -l या ls commands के through देख सकते है

[root@localhost expirment]# ls
xaa  xab  xac  xad  xae  xaf  xag  xah  xai

इसके बाद हम demo.txt file को delete कर दे ते है

[root@localhost expirment]# rm -rf demo.txt

अब दोस्तों हम इन Files को एक एक करके आसानी से email के जरिये send कर सकते है और जिस Person को ये सारी Files Receive हो गी वह इनको एक जगह फोल्डर में collect कर के निम्न commands द्बारा मूल File बना सकता है 

[root@localhost expirment]# cat x*> demo.txt

अगर आप चाहो तो ये Commands अपने system पर भी  Practical कर सकते हो आप देखो गे की आप के द्वारा Delete की गई demo .txt file वापस आजाये गी

[root@localhost expirment]# rm -rf demo.txt
[root@localhost expirment]# ls
demo.txt  xaa  xab  xac  xad  xae  xaf  xag  xah  xai

अगर दोस्तों आप को इस पुरे Process में कोई Problem आती है तो आप comments करे में आप की problems solve करुगा Otherness like,share करे follow करे इस website पर आप को Linux server से relatet बहुद सी महत्वपूण जानकारी और trick मिले गी Hindi में यहाँ तक की आप मेरे द्वारा लिखे गए हर tutorial को आप फॉलो करते हो तो redhat linux server आप सिख सकते है

धन्याद

By Vishnu sharma

Redhat Linux Serverमें File System क्या होता है ?

दोस्तों हर ऑपरेटिंग सिस्टम का अपना फाइल सिस्टम होता है कोई ऑपरेटिंग सिस्टम अपनी डिस्क पर डाटा को किस प्रकार से स्टोर करता है वह उसके फाइल सिस्टम पर निरभर करता है हर ऑपरेटिंग सिस्टम का अपना एक स्टैंडर्ड होता है उसी के अनुसार वह हार्ड  डिस्क पर data  को स्टोर करता है हार्ड डिस्क पर पार्टाशन(partition) बनाने और डाटा को स्टोर करने में फाइल सिस्टम की ही भूमिका होती है आज के वक्त में सबसे ज्यादा इस्तमाल होने वाला फाइल सिस्टम  N.T.F.S. है जो की विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टम का एक पॉपुलर फाइल सिस्टम है जिसतरह विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टम में फाइल सिस्टम के अंतरगत (my document) डॉक्यूमेंट विंडोज फोल्डर प्रोग्रेम फोल्डर रीसायकल बिन(recycle bin) आदि डायरेक्टरी बनी होती है  उसी तरह लिनक्स का भी एक फाइल सिस्टम होता है पर यहाँ हमको लिनक्स के फाइल सिस्टम के बारे में जान रहे है  लिनक्स का फाइल सिस्टम .E x t 3 होता है. लिनक्स में फाइल सिस्टम में सबकुछ( / )स्लैश में ही इंकलूड(Include) होता है हम यहाँ तक भी कह सकते है की लिनक्स ओस पूरा OS स्लैश /में ही Include होता है  इसको रुट डायरेक्टरी के नाम से भी  जाना जाता है  इसके अंदर निम्न लिखित फोल्डर सामिल होते है

file system in linux

रुट डायरेक्टरी(root directory)


/bin =यह डायरेक्टरी लिनक्स में यूटिलिटी प्रोग्राम का बाइनरी कलेक्शन होता है इस डायरेक्टरी में यदि हम लिनक्स में कोई   भी प्रोग्राम इनस्टॉल करते है या क्रिएट करते है तो उसका बाइनरी कलेक्शन इसमे होता है  इस डायरेक्टरी में लिनक्स में यूज होने वाले कमांड्स का भी संग्रह होता है

/Sbin =इस डायरेक्टरी में लिनक्स से रिलेटेड सभी कमांड्स के बाइनरी कलेक्शन होते है और लिनक्स सिस्टम की आल ओवर बाइनरी इस डायरेक्टरी में होती है इस लिए इसको Sbin नाम से  जाना जाता है जिसका मतलब है सिस्टम बाइनरी

/boot=इस डायरेक्टरी में बूट सम्बंदित इनफार्मेशन होती है जो लिनक्स के स्टार्ट होते वक्त कनरल में लोड होती है जेसे- ऑपरेटिंग सिस्टम  इनफार्मेशन वर्जन  आदि इनफार्मेशन इसमे मिली होती है

 

/dev=इस डायरेक्टरी में लिनक्स ऑपरेटिंग सिस्टम है कनेक्टेड(Connected) हार्ड वेयर से रिलेटेड जितनी भी इनफार्मेशन होती है वो इसमे include होती है जे से राइड(RAID) वोल्युम ग्रुप(Volume Group) VG, LV  इन सब के बारे में हम आगे विस्तार से चरचा करे गे Storage management  में

/etc=इस डायरेक्टरी में लिनक्स ऑपरेटिंग सिस्टम है की कॉन्फ़िगरेशन (Configuration)फाइल होती है जब लिनक्स में कोई भी पैकेज इनस्टॉल किया जाता है तो उसकी कॉन्फ़िगरेशन फाइल इस डायरेक्टरी में होती है इसकी कॉन्फ़िगरेशन फाइल्स में हम changes कर के ही लिनक्स को पोर्टेबल बनाते है इंटरफ़ेस और यूजर के ऑकर्डिंग ये हम आगे सिखैगे

/home=होम डायरेक्टरी में Linux  में बनाए गए सभी User और Group की इंफॉर्मेशन होती है इस डायरेक्टरी में सभी user and group का डाटा बेस भी होता है

/root=root  डायरेक्टरी वह  directory होती है जहां सिस्टम एडमिनिस्ट्रेशन अपना काम करता है इस डायरेक्टर के अंतर्गत सभी फोल्डर मिले होते हैं जैसा के सिस्टम एडमिनिस्ट्रेशन इन सभी फोल्डर में जाकर कोई भी इंफॉर्मेशन निकाल सकता है या देख सकता है इस रूट डायरेक्टरी में सभी फोल्डर include  होते हैं like -home ,proc ,tmp  etc..

/mnt= एक Mount directory होती है इसके अंदर सिस्टम के द्वारा कनेक्टेड सभी Heard ware Mount होते हैं जिसे सीडी डीवीडी ड्राइव और कोई एडिशनल हार्डवेयर Linux से कनेक्टेड(Connected) है

/tmp=इसमें लिनक्स सिस्टम की टीमप्ररी(temporary) फाइल्स होती हे जब लिनक्स सिस्टमक रिबूट होता हे तो ये फाइल्स अपने आप हट जाती हे पर सामन्यत लिनक्स सर्वर को बार-बार रिबूट नही किया जाता हे इसको हटाने के  कम्मांडस होती हे इसके बारे में हम आगे  चरचा करेगे  किसी नेक्स्ट आर्टिकल में 

/proc=इस डायरेक्टरी में सिस्टम से कनेक्टेड हर्डवेयर(Heard ware)  की लॉजिकल(Logical )  और फीज़िकल (Physical) इनफार्मेशन होती है 

लाइनेक्स ऑपरेटिंग फाइल सिस्टम के बारे में यह एक संक्षिप्त जानकारी है  आर्टिकल में मैंने ज्यादा से ज्यादा बिंदुओं को एक्सप्लेन करने का प्रयास किया है इसके अतिरिक्त यदि आपके मन में कोई भी एक प्रश्न मिलता है या किसी अन्य डायरेक्टर के बारे में आपको जानकारी चाहता है तो आप कमेंट बॉक्स में कमेंट करके आप पूछ सकते हैं दोस्तों अगर आपको यह मेरा आर्टिकल अच्छा लगा हो तो  लाइक करिए Share करिए जब भी मैं कोई नया आर्टिकल हिंदी में पब्लिश करूंगा आपको मेल मिल जाएगा

धन्यवाद

लेखक  विष्णु शर्मा

 

 

REDHAT LINUX SERVER में केसे USER ACCOUNTऔरGROUP बनाये पार्ट 1?

हेलो दोस्तों आज हम Linux Server में  अकाउंट(User Account) और ग्रुप मैनेजमेंट(Group Management) सीखेंगे जब कोई आईटी कंपनी (IT Compne)या कोई आर्गेनाइजेशन Linux Srever पर काम करती है तो इस Server पर काम करने वाले बहुत से Person होते हैं और हर एक Person के पास अलग अलग कार्य होता है वहां सब काम डिपार्टमेंट के अकॉर्डिंग किया जाता है  जैसे डिजाइनिंग डिपार्टमेंट (Designing Department) Monitoring डिपार्टमेंट नेटवर्क डिपार्टमेंट सॉफ्टवेयर टेस्टिंग डिपार्टमेंट इस तरह से हर डिपार्टमेंट में बहुत से व्यक्ति काम करते हैं और हर एक व्यक्ति के पास अलग-अलग काम होता है और वह सभी एक ही सर्वर पर काम कर रहे होते हैं तो इस तरह सभी को Server में Interface  दे ने के लिए लिए अकाउंट का यूज किया जाता है  एक जैसा जैसा काम करने वालों को एक जैसेGroupमें add में कर दिया जाता हे और इस ग्रुप को एक स्पेसिफाय (Specify) working परमिशन दे दी जाती है

इस तरह कंपनी में हर एक person को अलग -अलग परमिशन होती है इस तरह की परमिशन(Permission) को भी हम सेट करना सीखेंगे Root अकाउंट एडमिनिस्ट्रेटर अकाउंट होता है यह अकाउंट सभी Group and user बनाता है root किसी भी यूजर को किसी भी परमिशन को एक्सेस(access) करने की परमिशन दे सकता है वह किसी भी अकाउंट या ग्रुप का नाम या पासवर्ड चेंज कर सकता है

तो आज किस आर्टिकल में हम सीखेंगे की Linux Server में कैसे अकाउंट को ऐड(Add) किया जाता है कैसे ग्रुप को ऐड(Add) किया जाता है और ग्रुप में किसी userको कैसे ऐड(add) किया जाता है कैसे उसको परमिशन प्रोवाइड की जाती है कैसे user and group  Delete किया जाता

1–यूजर को इस तरह से ऐड किया जाता है 

[root@localhost expirment]# useradd joon

2= यूजर को इस तरह से Password दिया जाता है 

[root@localhost expirment]# passwd joon
Changing password for user joon.
New UNIX password:********(12345678)
BAD PASSWORD: it is too short
Retype new UNIX password: ********(12345678)
passwd: all authentication tokens updated successfully.
[root@localhost expirment]#

अब हम इस account को test करने के लीये दूसरे terminal पर जाकर लॉगिन होकर check कर सकते हे

3= -d इस कमांड्स से हम किसी  भी यूजर का पासवर्ड डिलेट (Delete) सकते हे 

[root@localhost ~]# passwe -d joon

4 हम लिनक्स सर्वर में बने सारे यूजर का विवरण इस कमांड्स से जान सकते हे 

[root@localhost ~]# cat /etc/passwd
root:x:0:0:root:/root:/bin/bash
bin:x:1:1:bin:/bin:/sbin/nologin
daemon:x:2:2:daemon:/sbin:/sbin/nologin
adm:x:3:4:adm:/var/adm:/sbin/nologin
lp:x:4:7:lp:/var/spool/lpd:/sbin/nologin
vishnu1:x:501:501::/home/vishnu1:/bin/bash
joon:x:502:502::/home/joon:/bin/bash
ram:x:503:503::/home/ram:/bin/bash
shyam:x:504:504::/home/shyam:/bin/bash

5=यूजर को डिलीट करने के लिए हम userdel -r कमांड्स का used करते हे 

[root@localhost ~]# userdel -r joon

6= हम cat /etc/ passwd कमांड्स का यूज़ कर के देखेंगे तो जून अकाउंट नही मिले गा                 7=  लिनक्स में  ग्रुप को groupadd hindi(hindi  is group name)से क्रिएट किया जाता

[root@localhost ~]# groupadd hindi

8 ग्रुप क्रिएट हुवा या नही इसको हम #cat /etc/group कमांड्स से देख सकते है

[root@localhost ~]# cat /etc/passwd
tomcat:x:91:
vishnu1:x:501:
ram:x:503:
shyam:x:504:
hindi:x:505:
You have new mail in /var/spool/mail/root

9=यूजर को ग्रुप में #usermod -G hindi (group name) joon (username)कमांड्स से ऐड किया जाता हे

[root@localhost ~]# usermod -G hindi joon

10=यूजर को ग्रुप से डिलीट करने के लिए कमांड्स gpasswd -d ( joon ) (hindi)  का हुसे किया जाता हे

[root@localhost ~]# gpasswd -d joon hindi
Removing user joon from group hindi

11=हम एक साथ मल्टीपल यूजर भी क्रिएट कर सकते है Script के जरीये

[root@localhost ~]# for USER in a1 a2 a3 a4 a5
> do
> useradd $USER
> echo password passwd --stdin $USER
> done
password passwd --stdin a1
password passwd --stdin a2
password passwd --stdin a3
password passwd --stdin a4
password passwd --stdin a5

12=एक साथ मल्टीपल यूजर के पासवर्ड को डिलीट करना script से

[root@localhost ~]# for user in a1 a2 a3 a4 a5
> do
> passwd -d $user
> done
Removing password for user a1.
passwd: Success
Removing password for user a2.
passwd: Success
Removing password for user a3.
passwd: Success
Removing password for user a4.
passwd: Success
Removing password for user a5.
passwd: Success

हम निम्न कमांड के द्वारा यह पता कर सकते हैं कि हमारे कौन-कौन से user के पासवर्ड Empty हैं

[root@localhost ~]# awk -F:'($2==""){print}'/etc/shadow

दोस्तों मेरे नेक्स्ट आर्टिकल में हम सीखेंगे की यदि किसी user को रूट की परमिशन मिली हुई है तो उसको कैसे हटाया जा सकता है दोस्तों मेरे नेक्स्ट आर्टिकल में हम सीखेंगे कि किसी यूज़र का पासवर्ड एक्सपेरी कैसे सेट करते हे

Thank you

By Vishnu Sharma

 

REDHAT LINUX SERVER में कैसे फाइल और फोल्डर बनाए जाते हैं

हेलो दोस्तों आज हम यह जानेगे की redhat linux server में कैसे फाइल और फोल्डर बनाए जाते हैं वैसे तो यह काम हम graphically   भी कर सकते हैं पर हम Linux Server  पर पर काम कर रहे हैं तो हमारी कमांड  पकड़ होना जरूरी है Redhat Linux  में फाइल और फोल्डर बनाना बहुत ही easyहोता है Linux  में टोटल (total)सेवन टर्मिनल(Terminal) होते हैं सातवा टर्मिनल ग्राफिकल टर्मिनल होता है हम  टर्मिनल पर Alt+Ctrl+F1 से लेकरF7 तक जा सकते हैं हम अपनी इच्छा के अनुसार customize terminal ने भी बना सकते हैं   हम बाद में सीखेंगे फिलहाल के लिए आपको यह बता सकता हूं कि हम Customize टर्मिनल बना सकते हैं पहले दोस्तों अपने कीबोर्ड से Alt+ctrl+F1 प्रेस करके टर्मिनल ओपन कर ले इसमें अपना  रूट का यूजर नेम और पासवर्ड लगाकर लॉगिन हो जाए root सबसे शक्तिशाली होता है root Linux Server ka  का एडमिन Account होता है

लिनक्स में हम फोल्डर बनाने के लीये mkdir commands काused  करते है

[root@localhost ~]# mkdir demo

Folder के अंदर जाने के ली ये cd commands ka use  करते है

root@localhost ~]# cd demo
[root@localhost demo]#

और Folderसे बाहर आने के ली ये cd commends का करते है

[root@localhost demo]# cd
[root@localhost ~]#

यह हम Demo folder में 3-4 Folder बनाते उसके अंदर जाने के लिए हम following path use करे गे

root@localhost demo]# mkdir ram
[root@localhost demo]# cd ram
[root@localhost ram]# mkdir shyam
[root@localhost ram]# mkdir ramesh
[root@localhost ram]# cd shyam
[root@localhost shyam]# mkdir rajesh
[root@localhost demo]# cd
[root@localhost demo]#
[root@localhost ~]# cd demo/ram
[root@localhost ram]# cd/shyam/ramesh
-bash: cd/shyam/ramesh:

इस तरह से हमLinux में Folderऔर Directoryबना सकते हे और folder से cd commands सेअंदर जा सकते हे  इसतरह हम Folder नाम के आगे / लगाते हु ये Folder केअंदर तक जासकते है

Linux Sever मे.text/.txt  फाइल बनाने के कई कमांड होते हैं यहां हम कुछ कमांड्स के बारे में प्रेक्टिकल करेंगे सिंपल टेक्स फाइल  touch, cat, vim ,  dd इन प्रमुख कमांड्स से बनाए जाती हे

touch

[root@localhost ram]# touch demo.txt
[root@localhost ram]# touch {a..z}tx

इस फाइल को देख ने के लिए il -l commands use करेगे

[root@localhost ram]# ls
atxt  ctxt      dtxt  ftxt  htxt  jtxt  ltxt  ntxt  ptxt   
  ttxt  vtxt  xtxt  ztxtbtxt  demo.txt  etxt  gtxt  itxt 
 ktxt  mtxt  otxt  qtxt  rtxt    stxt   utxt  wtxt  ytxt
[root@localhost ram]#

 

इसको Delete करने के ली येrm -rf commands use  करेगे

[root@localhost ram]# rm -rf a.txt b.txt

और सारी filesको एक साथ Delet रकने के लिए *.txt का use करे गे

[root@localhost ram]# rm -rf a.txt *.txt

ये rulesऔरcommands Folder पर भी लागु होता उसे भी इस तरह से Deleteरकसकते हे

VIM Commands

vim commands काuse linux में File ko create or openकरनने के ली यॆ किया जाता हे

vim File useकरने के लिए आप को इन instructionको ध्यान में रखना हे ये आगे भी आपके बहुद आएंगे

i=insert mod

Esc :=file command mod

:Q=exit file without any change

:wq=save and exit

:q! force full exit without change

:wq!=force full save and exit

[root@localhost ram]# vim demo
hello this is my fist linux file demo
~
~
~
~
~
~
~
~
~
~
:wq (नोट-Esc:wq का usedक रके File Save  कर बाहर आ सकते है)

अब fileकोOpenकरने केCAT commandका useकरते हे can command केuse कीसीभी file को open कर सकते है cat + File name

[root@localhost ram]# cat demo
hello this is my fist linux file demo
[root@localhost ram]#

DD Commands

यह commands बहुद powerfullहोती हे ये heard disk में से direct spaceलेकर फाइलें क्रिएट करती हे यह कितनी भी बड़ी फाइल को Create कर सकते हैं ये कमांड्स पुरे हर्ड डिस्क के Space को बी गार्बेज (Garbeg)में फाइल में बदल सकती हे
dd if=/dev/sda of=vishnu.txt bs=2M count=10
dd =file commands
if=/dev/sda (क्रिएट होने वाली फाइल के लिए हार्ड डिस्क से मिलने  वाला स्पेस)
of=output file
vishnu.txt(यह एक Fileका Name है आप यह कोई भी File Nameदे सकते है)
bs=born speed
count= number of counting

[root@localhost ram]# dd if=/dev/sda of=vishnu.txt bs=2M count=10
10+0 records in
10+0 records out
20971520 bytes (21 MB) copied, 0.321243 seconds, 65.3 MB/s
[root@localhost ram]#

अगर आप को इस पुरे प्रोसेस में कोई प्रोब्लेम्स आती हे तो कमैंट्स करे में सोल्वे करुगा अगर दोस्तों आप को ये पोस्ट अछि लगी हो तो comments like follow करे  next पोस्ट Redhat Linux Serverमें यूजर और ग्रुप क्रिएट पर होगा

Thank you

by Vishnu sharma

REDHAT LINUX SERVER कैसे INSTALL करें ?

दोस्तों जैसा कि आपने मेरे पिछले आर्टिकल में देखा कि लिनक्स  क्या है और इसको किसने डेवलप किया तब हम यह सीखेंगे कि LINUX को कैसे  इनस्टॉल किया जाता है इसके लिए आपके पास virtual box  इंस्टॉलेशन  होनी चाहिए अगर आपके पास virtual box इंस्टॉलेशन  नहीं है तो सिस्टम में वर्चुअल बॉक्स इंस्टॉल करना होगा virtual box Install करने के लिए आपको मेरे इस लिंक पर क्लिक करके Virtual Box डाउनलोड कर सकते हैं

अगर आपको यह पूरा process English   में चाहिए तो आप इस लिंक को क्लिक करके मेरी एक और साइट Visworlditsolution.com जो इंग्लिश में हैं  यहां से से भी देख सकते हैं

वर्चुअल बॉक्स इंस्टॉलेशन के पश्चात आपके पास Linux की  ISO file होना आवश्यक है अगर आपके पास Linux  की (ISO)आईएसओ फाइल नहीं है तो आप मेरे इस लिंक को क्लिक करके यहां से ISO Fileभी डाउनलोड कर सकते हैं इस फाइल को वर्चुअल बॉक्स में कनेक्ट करके अपने  विंडो सिस्टम में  LINUX इंस्टॉल कर सकते हैं  आप चाहें तो इसे रीयल मशीन में भी इंस्टॉल कर सकते हैं इसके लिए आपको पेन ड्राइव को बूटेबल बनाना होगा पेन ड्राइव को बूटेबल कैसे बनाया जाता है जिसके ऊपर भी मैंने एक आर्टिकल लिखा है हाउ टू मेक बूटेबल पेन ड्राइव इस लिंक पर क्लिक करके आप वहां तक पहुंच सकते हैं ! Linux installation बहुत ही सरल process है पूरे प्रोसेस को मैंने स्क्रीन शॉट के जरिए डिफाइन कर रखा है

Continue reading