Programming Language में Identifiers क्या होते है ?

 (identifiers) आइडेंटिफायर – इसका अर्थ Variable, array ,Function के नाम से होता है identifiers – को हम बहुद ही सरल सब्दो में समझने का प्रयास करते है जब हम किसी भी programming language में कोई भी program develop करते है तो हमे Programming की Coding के माद्यम से Computer memory में Data या निर्देश को input करने की आवश्य्कता होती है जो Computer memory की Location में Store होता है और Computer की Memory में हर Location का एक Unique address होता है और जब हम Programming language के माद्यम से Coding करते है तो वह data Computer की Memory में कही न कही जाकर Store हो जाता है Computer memory में यह data कहाँ जाकर store होता है यह हमारे लिए पता लगना मुश्किल होता है यह काम Operating system के द्वारा अपने आप कीया जाता है परन्तु identifies के माद्यम से हम उस memory location को एक कोई भी Name assign कर सकते है  परन्तु इन मेमोरी location का Name assign करने के लिए हमे कुछ नियमो को ध्यान में रखना पड़ता है क्यों की Programming language Compiler इसके साथ कही प्रकार के operation perform करता है वो नियम कुछ इस प्रकार है जो लग-भग सभी Programming Language पर लागु होते है

Continue reading