लिनक्स क्या है ?और इसको किसने Develop किया है ! |

हेल्लो दोस्तों आज में आप के साथ लिनक्स से Related कुछ Basic knowledge share करुगा Linux वास्तव में क्या हे ! दोस्तोंl inux एक बहुद ही पावरफुल (powerful) और फिलेक्सिबल (flexible ) ऑपरेटिंग सिस्टम हे ! Linux Open source Community द्वारा Develop किया गया हे  और ये बिलकुल Free Operating System है ! Linux का कोई भी आफिस नहीं है, कोई भी कम्पनी या व्यक्ति इसका मालिक नहीं है। पर दुनिया भर के प्रोग्रामर इसमें अपना योगदान देते हैं ! विश्वकी  बहुद सी आईटी रिसर्च कंपनीयो और यूनिर्विसिटी यो ने इसको अपने अनुसार आवश्यक फीचर जोड़कर बनाया हे  ! फिर भी  लिनक्स का इतिहास कुछ इस प्रकार  रहा हॆ ! Linux के कर्नेल का मुख्य रचनाकार लाइनस तोर्वाल्द्स को कहा जाता है और उन्ही के नाम पर इसका Name Linux पड़ा है इसके History को समझने के लिए हमे Operating system के Starting दौर का थोड़ा ज्ञान लेना होगा यह उस दौर की बात है जब हर Computer के लिए Particular Program लिख्ना जाता था फिर एक Operating system का अविष्कार किया गया जिसको ूनिक्स नाम से जाना गया यूनिक्स का विकास, 1960 के दशक में A.T &T की बेल प्रयोगशाला के द्वारा किया गया। उस समय ऐ.टी.&टी. कम्पनी एक नियंत्रित इजारेदारी थी इसलिए वह कमप्यूटर का सौफ्टवेयर नही बेंच सकती थी। उसने इसे, सोर्स कोड के साथ, बिना शर्त, सरकार तथा विश्वविद्यालयों को दे दिया, वे चाहे तो उसमें फेरबदल कर सकते हैं। 1980 के दशक के आते आते यूनिक्स सबसे लोकप्रिय, शक्ति शाली, एवं स्थिर औपरेटिंग सिस्टम बन गया हालांकि उस समय तक उसके कई वर्जन आ चुके थे।

लिनक्स के सौफ्टवेयर के लिए used के तौर पर पैसा नहीं लिया जा सकता, पर इसका मतलब यह नहीं है कि इससे पैसा नहीं कमाया जा सकता। बहुत सारी कम्पनियाँ इस पर सर्विस देकर पैसा कमा रही हैं और चल रही हैं। RedHat and SUSE मुख्य हैं।

लिनक्स इतना फ्लेक्सबिल और इजी है की इसको यूजर अपने अनुसार जिसतरह से चाए बना सकता बस उसको सुरुवात में लिनक्स कै लर्न करने में तोड़ी की प्रॉब्लम होती है पर ये इतना मुश्किल बी नही है अगर लिनक्स कै कोई ढंग से ऑपरेट करना सिक ले तो वो इसमे अपना अच्छा करियर बी बना सकता है फिछले कुछ दिनों से  IT  फ़ील्ड्स में लिनक्स पर काम करने वाले सिस्टम एडमिन और ऑपरेटर की मांग काफी ज्यादा  बड़ी है ! तो आप इसे सिक कर अच्छा करियर बी बना सकते है

बहुद से लोगो का मानना होता है की लिनक्स सिर्फ हैकिंग में used  किया जाता है ! परन्तु ये बात पूरी तरहसे true  नही है  लिनक्स के बहुद ही पॉवरफुल और स्ट्रांग सिक्योरिटी होती है इसलिए अनेक ओर्गानिजेशन और operate compney अपने सर्वर इसपर बना ती है
लिनक्स की सेक्यूरीटी उसको ऑपरेट करने वाले सिस्टम एडमिन के ऊपर डिपेंड करती है की वो लिनक्स में कितना स्कारक और इंटेलिजेंट है !

लिनक्स के कहि वर्जन है बहुद से वर्जन  हैकर लोगो और लिनक्स एक्सपर्ट ने बनाया ये जिसकी हेल्प से हैकिंग की जाती है पर इससे हैकिंग तभी कीजा सक्ति है जब आप लिनक्स में पूरी तरह से एक्सपर्ट हो

सबी लिनक्स वर्जन लगभग समान कमांड्स से ऑपरेट किये जाते है बस इनमे कुछ छोटा-मोटा अंतर होता है  अगर यदि हम किसी एक लिनक्स पर अपनी कमांड्स की पकड़ बना ले उसको सही ढंग से ऑपरेट करना सिक जाये तो दूसरे वर्जन  भी easily से समाज कर used  कर सकते है

फ़िरेंडस अगर आपको मेरे द्वरा दीगयी जानकारी अछि लगी तो फॉलो करे मेरे ब्लॉग  को में निरन्तर ऐसी नॉलेज वाली पोस्ट जब बी पिब्लिश करुगा आप को मेल मिलजाएगा और इस ब्लॉग पे बहुद ही सरल तरीके से लिनक्स को  सीखने की पोस्ट में प्रकाशित करता रहुगा
ध्न्यवाद

writer – Vishnu Sharma

 

10 thoughts on “लिनक्स क्या है ?और इसको किसने Develop किया है ! |”

  1. Wow, fantastic blog layout! How long have you ever been blogging for?

    you make blogging glance easy. The total glance of your web site is great, as neatly as the content!

  2. My coder is trying to convince me to move to .net from
    PHP. I have always disliked the idea because of the expenses.
    But he’s tryiong none the less. I’ve been using Movable-type on a variety of websites for about a
    year and am worried about switching to another platform.
    I have heard very good things about blogengine.net. Is
    there a way I can import all my wordpress posts
    into it? Any kind of help would be greatly appreciated!

  3. I’m truly enjoying the design and layout of your blog.
    It’s a very easy on the eyes which makes it much more
    enjoyable for me to come here and visit more often. Did you hire out a developer to create your theme?
    Great work!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *